Tag Archives: Children

ठुकेमारी और मुखेमारी : सुकुमार राय (अनुवाद)

sukumar1

सुकुमार राय (1887-1923), स्रोत – विकिमीडिया

पहलवान मुखेमारी का बडा नाम था – कहते हैं कि उसके जैसा पहलवान और कोई नहीं था । ठुकेमारी सचमुच का बडा पहलवान था, मुखेमारी का नाम सुनकर उसकी ईर्ष्या का कोई अंत न था । आखिर एक दिन जब ठुकेमारी से रहा नहीं गया, तो वह कम्बल में नौ मन आटा बाँधकर, उस कम्बल  को कंधे पर डालकर मुखेमारी के घर की ओर चल दिया ।

रास्ते में एक जगह बहुत प्यास और भूख लगने पर ठुकेमारी ने कम्बल को कंधे से उतारा और एक पोखर के किनारे आराम करने के लिए बैठ गया ।  Continue reading

Children and Values

39580-7510136062_19fd1a42e4_n
A big issue is always made of the lack of sense of Indian values in the children today. Before I put forward my views on the topic, I would like to ask what does one mean by Indian values. These are the thoughts, which have been the leading light of the Indian civilization for ages, and these are the principles on which the foundation of the Republic of India was laid. Continue reading